Voice of Nigohan

- Advertisement -

निगोहा – लालपुर दुग्धसमिति पर सचिव के द्वारा दूध न लेने के चलते , दुग्ध उत्पादकों में रोष

13

लालपुर दुग्धसमिति पर सचिव के द्वारा दूध न लेने के चलते , दुग्ध उत्पादकों में रोष

निगोहां, लखनऊ। निगोहां क्षेत्र के ग्राम पंचायत लालपुर में खोली गई दूग्ध समिति में उपभोक्ताओं का दूध न लेने के कारण पशु पालकों के सामने विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों के मुताबिक इस ग्राम पंचायत में लगभग दो माह पूर्व ही दुग्ध समिति की स्थापना की गई है। किसानों ने अपनी आर्थिक स्थिति मजबूत बनाने के लिए दुधारू पशुओं को पाल कर दूध को दुग्ध समिति पर पहुंचाते थे। उपभोक्ताओं का आरोप है कि जब से लाॅकडाउन की घोषणा की गई है, तभी से सचिव मनमानी करने लगा है।वह कभी दूध लेता है कभी नहीं लेता है। ऐसी स्थिति में पशुपालकों के सामने गंभीर समस्याएं उत्पन्न हो गई है कि वह अपना दूध किसको दे। लालपुर के दुग्ध उत्पादक किसानों में सरोज मिश्रा, राकेश वर्मा , मुकेश पाल, संतोष मिश्रा, सुन्नी सोनी,विमल गोस्वामी बिल्लेसवर गोस्वामी, अनिल सैनी सहित पशुपालकों का कहना है कि एक,दो लीटर दूध को परिवार में उपयोग किया जा सकता है, किंतु पांच,दस,पंद्रह या बीस लीटर दूध कहां लेकर जायें। इस विषय पर दुग्ध समिति की देखरेख करने वाली क्षेत्रीय सुपरवाइजर कौशल्या वर्मा से फोन पर बात की गई तो उन्होंने समिति पर पहुंचाने वाले दुग्ध उत्पादकों से दूध का मूल्य घट जाने की बात कहकर दूध नहीं लेने एवं दूध को बीएमसी कासिमपुर गढ़ी जो मीरख नगर में स्थित है तक अपने खर्च पर पहुंचाने की बात कही। जिस कारण पशुपालकों के सामने समस्या उत्पन्न होने लगी है। इस समस्या से निजात दिलाने की बात पशुपालकों ने पराग दुग्ध के जीएम से की तो उन्होंने पराग दुग्ध के जितेंद्र से बात करने को कहा । जीतेंद्र ने भी को अपने दूध को लेकर सचिव के लोडर के साथ बीएमसी कासिमपुर , गढ़ी मीरख नगर तक पहुंचाने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ लिया है। जिससे दुग्ध उपभोक्ता सचिव से काफी परेशान है।

निगोहां से सर्वेश शुक्ला की रिपोर्ट

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.