Voice of Nigohan

- Advertisement -

निगोहां – कांटा करौंदी में बेजुबानों को ठंड से बचाव हेतु समाजसेवी ने की पहल

इंसानियत आज भी जीवित हैं अजय शुक्ला ने बढ़ाया हाथ

91

बेजुबानों को ठंड से बचाव हेतु समाजसेवी ने की पहल

इंसानियत आज भी जीवित हैं अजय शुक्ला ने बढ़ाया हाथ

निगोहां। लखनऊ के मोहनलालगंज विकासखण्ड में बने पशु आश्रय केन्द्र में पशुओं को ठंड से बचने के लिए कोई समुचित व्यवस्था नही है ।

इंसानियत आज भी जीवित हैं , ग्रामीणों के मुताबिक निगोहां क्षेत्र के कांटा करौंदी ग्रामसभा निवासी अजय शुक्ला रोज़ सुबह टहलने के लिए जाया करते हैं , बताया कि समाज सेवी अजय शुक्ला बेजुबानों के लिए आयेदिन कभी नमक तो कभी भूसा की व्यवस्था अपनी स्वेच्छा से करते रहते हैं । जब कांटा करौंदी निवासी अजय शुक्ला से बात की गई तो उन्होंने ने बताया कि हम रोज प्रातःकाल उठकर टहलने के लिए जाते हैं । आज घुमते-घुमते पशु आश्रय केन्द्र के तरफ आ गया, तभी हमारी नजर पशु आश्रय केन्द्र के अन्दर पड़ी देखा कि केंद्र में छोटे छोटे बेजुबान बछड़े ठंड से कांप रहे हैं जो हमसे देखा नहीं गया और घर जाकर टाट के बोरे लाकर लगभग 2 दर्जन छोटे पशुओं को लाकर स्वयं ढका । और बताया कि वह बेजुबान है इनके लिए और भी टाट के बोरे व तिरपाल की व्यवस्था करेंगे जिससे बेजुबानों को कुछ राहत मिल सकेगी ।

निगोहां से सर्वेश शुक्ला की रिपोर्ट

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.