Voice of Nigohan

- Advertisement -

नगराम क्षेत्र के मोतीकापुरवा स्थित ऑलदेव बाबा मंदिर के प्रांगण में श्रीमद् भागवत कथा सप्ताहिक ज्ञान यज्ञ का आयोजन

हजारों की संख्या में भक्तों ने कथा का आनंद लिया

10

ऑलदेव बाबा मंदिर के प्रांगण में श्रीमद् भागवत कथा सप्ताहिक ज्ञान यज्ञ का आयोजन

हजारों की संख्या में भक्तों ने कथा का आनंद लिया

निगोहा । लखनऊ के नगराम क्षेत्र के मोतीकापुरवा गांव में स्थित बाबा ऑलदेव मंदिर के परिसर में चल रहे सात दिवसीय श्रीमद भागवत ज्ञान यज्ञ कथा का शुभारंभ 30 अक्टूबर से हुआ। भागवत कथा में चार वेद, भागवत पुराण कथा का आयोजन किया गया।   नगराम  इलाके  के मोतीकापुरवा गांव में स्थित आलदेव बाबा मंदिर के परिसर में चल रहे सात दिवसीय श्रीमद भागवत ज्ञान यज्ञ कथा का कार्यक्रम बुधवार से आयोजित किया गया । भागवत कथा में चार वेद, गीता एवं श्रीमद् भागवत महापुराण की व्याख्या, प्रभुपाद, की व्याख्यानों को भक्तों ने श्रवण किया । हसवा पुर बाराबंकी से आये कृष्णानंद (मृदुल) महाराज जी के मुखारवृंद से उपस्थित भक्तों ने श्रवण किया। श्री कृष्ण के अलौकिक कार्यक्रम झांकियों के माध्यम से प्रस्तुत किया गया , भागवत कथा के प्रारंभ के चौथे दिन श्री कृष्ण जन्मोत्सव व भगवान श्री कृष्ण जी के वात्सल्य प्रेम, असीम प्रेम के अलावा उनके द्वारा किए गए विभिन्न लीलाओं का वर्णन कर वर्तमान समय में समाज में व्याप्त अत्याचार, अनाचार, कटुता, व्यभिचार को दूर कर सुंदर समाज निर्माण के लिए युवाओं को प्रेरित किया। इस धार्मिक अनुष्ठान के सातवें एवं अंतिम दिन बाबा कृष्णानंद (मृदुल) महाराज जी ने बताया कि भगवान श्री कृष्ण के सर्वोपरी लीला श्री रास लीला, मथुरा गमन, दुष्ट कंस राजा के अत्याचार से मुक्ति के लिए कंस वध एवं सुदामा चरित्र का वर्णन कर भक्तिरस के कार्यक्रम आयोजित किए जायेंगे। इस दौरान भजन गायन ने उपस्थित लोगों को ताल एवं धुन पर नृत्य करने के लिए विवश कर दिया। मृदुल महाराज जी ने सुंदर समाज निर्माण के लिए गीता से उपदेश के माध्यम से अपने को उस अनुरूप आचरण करने को कहा जो काम प्रेम के माध्यम से संभव है, वह हिंसा से संभव नहीं हो सकता है। समाज में कुछ लोग ही अच्छे कर्मों द्वारा सदैव चिर स्मरणीय होते है, इतिहास इसका साक्षी है। भक्तों ने दिन-रात इस संगीतमयी भागवत कथा ज्ञान यज्ञ का आनंद उठाया। इस सात दिवसीय भागवत कथा में आस-पास गांव के अलावा दूर दराज से काफी संख्या में महिला-पुरूष भक्तों ने इस कथा का आनंद उठाया। सात दिनों तक इस कथा में पुरा वातावरण भक्तिमय रस से सराबोर हो जायेगा। प्रवचन के बाद उपस्थित भक्तों के बीच प्रसाद वितरण किया गया। इस कथा के दौरान भगवत प्रेमी हरिनाम सिंह, संजय कुमार, धर्मेंद्र कुमार , बृजेश वर्मा, शशिकांत , संजय वर्मा आदि हजारों की संख्या में भक्तगण मौजूद रहे। कथावाचक श्री कृष्णानंद (मृदुल) महाराज जी ने बताया कि इस कथा का समापन आज 5 नवंबर मंगलवार को किया जाएगा , कथा समापन के बाद 6 नवंबर दिन बुधवार को कन्या भोज के साथ विशाल भंडारे का आयोजन किया जाएगा। समाजसेवी बृजेश वर्मा ने बताया कि इस ऑल देव बाबा मंदिर के परिसर में मकर संक्रांति के दिन विशाल मेला भी लगता है। जहां दुकानदारों को समुचित व्यवस्था दी जाती है।

नगराम से परशुराम की रिपोर्ट

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.