Voice of Nigohan

- Advertisement -

मोहनलालगंज – हुलास खेड़ा में पशु आश्रय केंद्र न बनने से किसान परेशान

58

हुलास खेड़ा में पशु आश्रय केंद्र न बनने से किसान परेशान

लखनऊ के मोहनलालगंज विकासखंड क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पंचायत हुलास खेड़ा कान्हा उपवन योजना के तहत उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पशु आश्रय केंद्र बनाने के लिए निर्देश दिए गए थे जिससे आने जाने के मार्ग में आवारा पशु तथा किसानों की फसलें नष्ट न हो और आवारा पशुओं को खाने-पीने रहने की उचित व्यवस्था हो सके लेकिन किसानों के लगातार संघर्ष के बाद पशु आश्रय केंद्र का कार्य ग्राम प्रधान प्रतिनिधि के नेतृत्व हुलास खेड़ा पशु आश्रय केंद्र का कार्य सुचारू रूप से चालू न होने पर ग्राम प्रधान प्रतिनिधि व संबन्धित विभाग की उदासीनता के कारण पशु आश्रय केंद्र का कार्य अधूरा पड़ा है जिससे किसानों को अपने खेत यह नर्सरी की सुरक्षा के लिए है रात दिन जागना पड़ता है और कहीं किसान चूक गया तो सारी फसल नष्ट और किसान आवारा पशुओं को अपने खेतों से खदेड़ने पर उल्टा अपनी नुकीली सिंहो किसानों पर झपट पड़ते हैं । जिससे किसानों को अपनी जान जोखिम में डालने को मजबूर हो जाते हैं जिससे किसान कि दिन प्रतिदिन आय का स्तर घटता जा रहा है तथा किसान ऋण ग्रस्त होता जा रहा हैं किसानों का कहना है कि हमारी फसलें नष्ट हो जाएंगे और रोजी रोटी मवेशियों द्वारा छीनी जा रही है कुछ किसानों की मवेशियों द्वारा जाने जा चुकी हैं और हमेशा किसान दहशत में रहते हैं । भाजपा सरकार की पशु आश्रय केंद्र निर्माण में ग्राम प्रधान व संबंधित विभागीय अधिकारियों की उदासीनता के कारण कार्य अधूरा।

मोहनलालगंज से जय शरण तिवारी की रिपोर्ट

Comments are closed.