Voice of Nigohan

- Advertisement -

लखनऊ – महिला प्रधान ने लगाई एसएसपी से न्याय की गुहार.

न्याय ना मिलने पर पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सामने आत्मदाह करने की दी धमकी

19

महिला प्रधान ने लगाई एसएसपी से न्याय की गुहार.

न्याय ना मिलने पर पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सामने आत्मदाह करने की दी धमकी

(ब्यूरो)लखनऊ- राजधानी लखनऊ के थाना नगराम क्षेत्र के अकरहदू गांव की वर्तमान महिला प्रधान सुशीला रावत पर तीन मई को तमंचे से जानलेवा हमला हुआ था पीड़ित महिला प्रधान ने नगराम थाने में इसकी शिकायत की थी शिकायत के बाद इसकी जांच सी ओ मोहनलालगंज को सौंपी गई परंतु 8 दिन बीत जाने की बाद भी तमंचा लगाकर जान से मारने की धमकी देने वाले हमलावरों की गिरफ्तारी न होने के कारण पीड़ित महिला प्रधान ने एसएसपी को शिकायत पत्र लिख कर बदमाश हमलावरआरोपियों को गिरफ्तार करने व न्याय की गुहार लगाई है विगत 8 दिन पहले अकरहदू गांव की रहने वाली वर्तमान महिला प्रधान सुशीला देवी अपनी बेटी आस्था वा भतीजे पंकज के साथ मोटरसाइकिल से सुबह 5:30 बजे जेल में बंद अपने पति वासुदेव से मिलने जा रही थी तभी रास्ते में ददुरी गांव के पास पहुंचते ही पुरानी रंजिश के चलते रास्ते में बास कोठी की आड़ में छिपे चार नकाबपोश हमलावर युवकों ने महिला प्रधान को चारों ओर से घेर लिया था और महिला के कमर के पास तमंचा सटाकर फायर करना चाहा लेकिन कारतूस मिस हो गई थी इसी बीच महिला के शोर मचाने पर हमलावरों ने महिला वा उसकी 5 वर्षीय बेटी आस्था भतीजे पंकज को तमंचे की बट वा लात घूसो से पिटाई करके महिला प्रधान की प्लैटिना गाड़ी में आग लगाकर तमंचा लहराते हुए जान से मारने की धमकी देकर मौके से भाग निकले थे जेल में बंद पति से मिलने जा रही महिला प्रधान को 3.5.19 को आरोपी बदमाशों ने जान से मारने की कोशिश की थी और लात घूंसे से पिटाई की थी विरोध करने पर कट्टे की बट से मारा पीटा तभी से आरोपी लगातार धमकी दे रहे हैं और पुलिस की पहुंच से दूर है इस मामले को लेकर नगराम थाने में मारपीट आगजनी जानलेवा हमला एससी एसटी एक्ट जैसी संगीन धाराओं मैं मुकदमा पंजीकृत है 307 जैसी जानलेवा हमले की धाराओं के बाद भी आरोपी पुलिस की पहुंच से कोसों दूर है लगातार पीड़ित को जान से मारने की धमकियां दी जा रही है पीड़ित महिला प्रधान ने आरोप लगाया है कि जांच अधिकारी व नगराम पुलिस आरोपियों से मिलीभगत करके उन्हें गिरफ्तार करने की बजाय उन्हें संरक्षण दे रही हैं पीड़ित महिला प्रधान जांच अधिकारी के कार्यालय के चक्कर लगा रही है पीड़ित द्वारा पूछे जाने पर जांच अधिकारी टाल मटोल कर रहे हैं पीड़ित वर्तमान महिला प्रधान सुशीला रावत ने सी.ओ. मोहनलालगंज से बात की तो उन्होंने आश्वासन दिया कि 2 दिन के अंदर जांच करके आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा पीड़ित महिला प्रधान ने बताया कि 2 दिन में आरोपी गिरफ्तार’ नहीं हुए तो मैं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सामने आत्मदाह करूंगी ।

रिपोर्टर – सूरज अवस्थी

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.